Friday, December 2, 2022
HomeUncategorizedMumbai Writer Pranali Bhinge pens down an impactful poem 'Zindagi Aasan Nahi...

Mumbai Writer Pranali Bhinge pens down an impactful poem ‘Zindagi Aasan Nahi Hoti’

जिंदगी आसान नहीं होती है!

 

जिंदगी की उम्मीद के कोरे पन्नो पर… कोई कहानी तो लिखनी होगी ना… शब्दों को बुनोगे जो ताना-बाना… कुछ नज्म़ रहेंगे, तो कुछ गज़ल हो जाएंगे… टूट गए सपने तो क्या… कोशिश फिर भी करनी होगी… जो ख्वाब देखे हैं तुमने… कुछ अधुरे, तो कुछ मुकम्मल हो जाएंगे… ज़िदगी घिरी है इम्तिहानो से… मुश्किलें हमें मजबूत बनाती है… हिम्मत और हौसला हमें बुलंद बनाती है… वक्त बहुत कठिनाइयों से घिरा हुआ है… कोशिश करनी और उम्मीद बनाएँ रखनी हमारे हाथ में है… आज असफल हुआ है तो क्या… तो उसे हार मानकऱ तू उम्मीद नही छोड़ना… तू जल्द ही अपनी जीवन में मंजिल को पायगा़… रख पूरा विश्वास अपनी मेहनत पर… सिर्फ हौसले बुलंद होने चाहिए सपने को हासिल करने़ के लिए… फिर हमे दुनिया की कोई मुश्किल रोख नहीं सकती जीवन में सफल होने से!

 

कायरता के पथ पर, तू कोशिश की माला सींच… दुनिया की हर काबिलियत को इस कदर संघर्ष से सीख… हार के आगे तू अपने खडा़ रहे बनकर ढीट़… मुश्किल इस दुनिया में कुछ भी नहीं है… फिर भी लोग अपने इरादे तोड़ देते है… अगर सच्चे दिल से हो चाहत कुछ पाने की, तो रास्ते के पत्थर भी अपनी जगह छोड़ देते है… सिर्फ हमारे हौसले मज़बूत होने चाहिए, उस मुक्काम तक पहुचने के लिए… तभी हम उस सफर को आसान कर सकते है! जिंदगी की लडा़ई खुद लड़नी पड़ती है… एक कदम अकेले चले है, तो उस कदम पर भरोसा, उम्मीद रखनी पड़ती है… यहाँ पे ख्वाहिश जंग हमारी खुद से है तो… जिंदगी की लडा़ई खुद लड़नी पड़ती है… जो भी है, जैसे भी है खुद पर भरोसा होना चाहिए… तभी हम हमारी ज़िंदगी हर एक ख्वाहिश को पूरा कर सकते है… चाहे कुछ भी हो हमें दुनिया की कोई ताक़त रोख नहीं सकती!

जिंदगी होती अगर आसान तो मजा कहा होती… बिना मुश्किलो की जिंदगी थोडी़ होती… बिना मांगे मिल जाएँ तो कदर किसकी होती… बिना मेहनत की मंजिल थोडी़ होती है… बिना पत्थर की राह होती, तो सबक नहीं मिलता… बिना संघर्ष की जीत की खुशी थोडी़ होती… अपनी खुशी के लिए कुछ भी कर जाना… सब पाकर भी बैचेन रहना या सब खोकर भी सुकून ढूँढ़ना… क्या जिंदगी बहुत मुश्किल है… कुछ सवालों में ही उनके जवाब होते है… और कुछ सवालों के जवाब ही नहीं होते है… फिर भी उनके जवाब ढूंढते रहना बहुत मुश्किल है!

जिंदगी भी हमे ऐसे ही दोराहे पर लाकर खडा़ कर देती है…. किस राह पर चलना है ये हम पर छोड़ देती है… शायद इसलिए जिंदगी कभी आसान नहीं होती है… क्योंकि जिंदगी इन्ही सवालों ले जवाब तक का सफर है… जिंदगी के रास्ते में कहीं मोड़ आयेंगे पर मुड़ना नहीं है… मंजिल कितनी भी दूर हो पर थकना नहीं है… नामुमकिन कुछ भी नहीं है ज़िंदगी मे, विश्वास रखो खुद पर… जिंदगी आसान नहीं होती है, लेकिन हमे जि़दगी के उस सफर को आसान करने की कोशिश करनी पड़ती है!

-Pranali Bhinge

 

 

About Author Pranali Bhinge

 

Pranali Bhinge is a student from Mumbai. She is also a socialist. In the year 2020, she started writing. Writing is her hobby and she elevates her hobby. She has capable of writing in different ways like love, motivation, hard work, etc. She wants her words to reach the heart of the people. Her write-up was featured in The MT. Kenya times paper. She has won numerous writing contests and achieved many titles. She is a co-author of numerous anthologies. She is a Compiler and Editor of the Rotaract Club of Mumbai Sky City organizations. She has worked in many world-record anthologies. She is also an artist. she started photography and crafting.  She has also won many awards in Crafting.

Her write-ups featured on social websites… She’s getting the Amazing writer title of Magic of Words Community…Her write-ups got a special mention and Top 20 by INKZOID FOUNDATION which was a World Record Event dated 28/02/22. She is a reserved, calm girl with great aspirations…She has a constant desire to run in search of happiness and loves to express herself through poetry…She believes that it is your words that connect you to people…She’s not a perfect writer but she just knows the skills of expressing her feelings in words. She is very fond of reading. You can connect with her write-ups through Insta I’d: @pran_ali3141.

Instagram: https://www.instagram.com/pran_ali3141/

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments